भारत में बिटकॉइन का भविष्य 2022 -25 |Bitcoin ka bhavishya 2022-25

इस पोस्ट में हमलोग पढने वाले हैं, भारत में क्रिप्टो करेंसी का भविष्य, भारत में बिटकॉइन का भविष्य 2202 – 2025, बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं.

क्रिप्टो करेंसी अपने आप में एक अलग दुनिया हैं. जब भी हम क्रिप्टो करेंसी का नाम लेते हैं हमारे दिमाग में सबसे पहले एक ही नाम आता है, बिटकॉइन. क्या आपको पता है ऐसा क्यों हैं. क्युकी दुनिया को सबसे पहले क्रिप्टो का मतलब बिटकॉइन ने ही समझाया हैं. उससे पहले भारत में बिटकॉइन का भविष्य जाने, हमें जानना होगा की क्रिप्टो करेंसी का भविष्य क्या होगा?

बिटकॉइन का भविष्य 2022 ( Bitcoin ka bhavishya 2022 )

Update:- भारत में बिटकॉइन का भविष्य अब लगभग स्पस्ट होते हुए नज़र आ रहे हैं. 1 फरवरी 2022 को संसद में वितमंत्री के द्वारा क्रिप्टो करेंसी और वर्चुअल सम्पति पर 30% का टैक्स लगाने के ऊपर व्यान और बजट में इसका ज़िक्र ये स्पस्ट करता हैं की भारत में क्रिप्टो पूरी तरह से बैन नही होगा.

परन्तु सरकार ने भी ये बात स्पस्ट कर दी की क्रिप्टो में इन्वेस्ट करने पर यदि आपको हानि होती है, तो इसके जिम्मेवार लोग स्वयं होंगे. सरकार इसकी किसी भी प्रकार की भुगतान नही करेगी. परन्तु यदि आप क्रिप्टो से प्रॉफिट कमाते हैं तो सरकार उसका 30% आपसे टैक्स के रूप में ले जरुर लेगी.

वितमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण

आप ने देखा होगा भारत सरकार के क्रिप्टो करेंसी बिल के बारे में जैसे ही मीडिया में खबर आई बिटकॉइन की कीमत में भारी गिरावट हुयी. इस बयान से पहले एक बिटकॉइन लगभग 49 लाख रुपये की हो गयी थी जो अब गिरकर 37 लाख पर आ गयी हैं. उम्मीद है की ये 30 लाख के निचे भी चला जाये.

क्रिप्टो करेंसी के ये 5 नुकसान आपको जरुर जानना चाहिए.

यदि भारत सरकार इस बिल में बिटकॉइन पर बैन नही लगाती हैं तो 2022 के अंत तक एक बिटकॉइन लगभग 1 कड़ोर का हो सकता हैं. एक्सपर्ट का कहना हैं की इसके मूल्य में वृद्धि का सबसे बड़ा कारण हैं बिटकॉइन बेचने वाली कंपनियों का जो लगातार विज्ञापन के जरिये लोगो को बिटकॉइन खरीदने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं.

दिनांक 8 दिसम्बर 2021 से ही कज़ाकिस्तान में गैस के दाम को लेकर हो रहे प्रोटेस्ट का असर बिटकॉइन पर भी परा हैं. जिसका असर आप बिटकॉइन के कीमत में आई गिरावट से भी देख सकते हैं.

इस प्रोटेस्ट के कारण पहले से ही बिटकॉइन के कीमत के लगभग 8% तक की गिरावट देखी हैं. एक्सपर्ट्स का मानना है की बिटकॉइन की कीमत इस साल 2022 में और भी गिर सकती हैं.

8 जनवरी 2022 तक कज़ाकिस्तान में प्रोटेस्ट और दंगे रुके नही हैं. उम्मीद किया जा रहा है की जल्द ही ये दंगे ख़त्म हो जायेंगे.

जाने pi network क्या हैं और कैसे मोबाइल से माइनिंग करे

आप सोच रहे हैं की बिटकॉइन के कीमत और कज़ाकिस्तान में क्या सम्बन्ध हैं?

cnbc एक बहुत बड़ी समाचार एजेंसी हैं. और इनके एक रिपोर्ट के अनुसार कजाकस्तान के राष्ट्रपति के द्वारा पुरे देश में इन्टरनेट को बंद करवा दिया गया हैं. कजाकस्तान में दुनिया भर के बिटकॉइन का लगभग 15% माइनिंग होता हैं.

After sacking his government and requesting the aid of Russian paratroopers to contain the fatal violence, president Kazakh President Kassym-Jomart Tokayev ordered the nation’s telecom provider to shutter internet service. That shutdown took an estimated 15% of the world’s bitcoin miners offline, according to Kevin Zhang of digital currency company Foundry, which helped bring over $400 million of mining equipment into North America.

source :- cnbc.com

अब ये माइनिंग फार्म इन्टरनेट न उपलब्ध होने के कारण बंद परे हैं. जिसका असर आपको बिटकॉइन के कीमत में देखने को मिल रही हैं. कज़ाकिस्तान की माइनिंग फार्म 5 दिनों के बाद फिर से खुलने लगी हैं. परन्तु इसके साथ हि रूस और अमेरिका के पार्लियामेंट में क्रिप्टो को बैन करने या इसको कण्ट्रोल करने की कानून के उपर बात शुरू हो गयी हैं.

हालाँकि रूस ने अपने देश में क्रिप्टो माइनिंग और क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह से बैन लगा चुकी हैं. इसके साथ ही इरान ने भी अपने देश में 3 महीने के लिए क्रिप्टो माइनिंग पर रोक लगा चूका हैं. लगातार इन सब देशों के एक साथ प्रतिक्रिया के कारन बिटकॉइन के कीमत में आपने भाड़ी गिरावट देखि होगी. परन्तु 2022 के अंत तक sabkuchhhindi.com के भविष्यवाणी के अनुसार बित्कोइन की कीमत लगभग 60 – 80 लाख भारतीय रुपये तक रहेगी.

इसके कई सारे कारन हैं. जिसकी चर्चा हमने ऊपर की हैं और निचे भी किया हैं. इसके प्रमुख्य कारणों में से एक भारत के वितमंत्री का क्रिप्टो से इनकम पर 30% का टैक्स लगाने से भी हैं. क्रिप्टो एक्सचेंज ने इस बात को क्रिप्टो के लीगल होने की बात की हैं. जिससे लोगो में एक आत्मविश्वास आएगा, और क्रिप्टो के कीमत में फिर से उछाल देखने को जरुर मिलेगा.

इस पुरे पोस्ट को आप अछि तरह से पढ़िए फिर अपना पैसा सोच समझ कर इन्वेस्ट कीजिये.

और एक्सपर्ट का मानना है की इसका असर पुरे साल 2022 में आपको देखने को मिलेगा sabkuchhhindi.com के पाठको से निवेदन है की आप अपना पैसा सोच समझ कर लगाये.

बिटकॉइन का भविष्य 2025 ( Bitcoin ka bhavishya 2025 )

2025 की बात करे तो एक्सपर्ट का मानना है की बिटकॉइन का ग्रोथ उतना नही होगा जितना की अकेले 2022 में इसका ग्रोथ होने वाला हैं. इसका मुख्या कारण है की पहले से ही 300 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी भारत में मौजूद हैं. और हाल ही में भारत में भारतियों के द्वारा बनाया गया पहला क्रिप्टो करेंसी बिग बुल क्रिप्टो करेंसी को लांच कर दिया गया हैं.

जैसे ही क्रिप्टो करेंसी बिल भारतीय संसद से पास किया जायेगा ये सभी क्रिप्टो करेंसी अपना अपना मार्केट बनाने की होड़ में लग जाएँगी. जिसके कारण बिटकॉइन के ग्रोथ पर थोरा सा असर परेगा. फिर जब एक्सपर्ट से पूछ गया की 2025 में बिटकॉइन की कीमत क्या हो सकती हैं. इसपर एक्सपर्ट का मानना हैं की 2025 तक एक बिटकॉइन की कीमत लगभग 3 करोड़ तक जा सकती हैं.

क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करना है तो सबसे पहले क्रिप्टो चार्ट को पढने आना बहुत जरुरी हैं.

क्रिप्टो चार्ट कैसे पढ़ें?

भारत में क्रिप्टो करेंसी का भविष्य 2022

क्रिप्टो करेंसी का भविष्य सटीक बताना तो शायद संभव नही हैं, लेकिन जो लोग क्रिप्टो करेंसी एक्सपर्ट हैं उनका मानना है की क्रिप्टो करेंसी भविष्य का करेंसी हैं. वो ये भी कहते हैं की शायद क्रिप्टो करेंसी आने वाले भविष्य में नियमित रूप से चलने वाले करेंसी की जगह भी ले ले तो आश्चर्य नही होगा.

ये बात कहने के पीछे उनका रीज़न है ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी और Decentralization तो आईये संक्षिप्त में समझते हैं की ये ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी क्या हैं और decentralization क्या हैं?

ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी क्या है?

जैसा की नाम से ही पता चल रहा है ये ब्लाक चैन दो शब्दों से मिल कर बना हैं.

  1. ब्लाक
  2. चैन

ब्लाक का अर्थ एक बंद डब्बा से लगा सकते हैं. जब भी कोई नया इनफार्मेशन आता हैं तो उसे एक बंद डब्बे में डाल दिया जाता हैं और जैसे ही वो डब्बा भरता हैं उसको दुसरे डब्बे से जोर दिया जाता हैं. दो डब्बों को जोड़ने का काम चैन के तकनीक से किया जाता हैं. इस प्रकार जितने डब्बे भड़ते जाते हैं. वो आपस में एक दुसरे से जुड़ते जाते हैं. इस तकनीक को ही ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी कहते हैं.

इसका सबसे बार फायेदा है की सारा डाटा एक जगह नही रहता हैं. जिसके कारण इनमे बदलाव करना लगभग नामुमकिन हैं. क्युकी कोई भी व्यक्ति एक जगह का डाटा बदल सकता हैं हो सकता है 10 जगह का डाटा बदल दे. परन्तु लाखो जगह का डाटा बदलना किसी भी व्यक्ति के लिए लगभग नामुमकिन हैं.

एसी नयी और एडवांस टेक्नोलॉजी के कारण ही ये पूरी तरह हैकिंग प्रूफ माना जा रहा हैं, जो निश्चित रूप से इन्वेस्टर को एक भरोसा देता हैं.

Decentralization क्या हैं?

अभी तक हम जो भी करेंसी उपयोग करते आ रहे हैं, वो किसी न किसी देश के सरकार द्वारा चलाई जाती हैं. जैसे की भारत में रुपया, अमेरिका में डॉलर और अलग अलग देशों में उनके अलग अलग करेंसी चलते हैं और लोग उनका इस्तेमाल करते हैं.

इसमे करेंसी का चलन पूरी तरह सरकार पर निर्भर करता हैं. सरकार जब चाहे करेंसी छाप सकती है, जिसके कारण रुपये का कीमत गिर सकता हैं. या हो सकता हैं की करेंसी के कुछ नोट ही बंद कर दे. जैसे की भारत में मोदी सरकार के द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिया गया. इसप्रकार से देखा जाये तो करेंसी का पूरा कण्ट्रोल सरकार अपने पास रखती हैं.

परन्तु decentralization में ऐसा नही हैं. क्रिप्टो करेंसी का कोई मालिक नही हैं. यह हमारे आपके जैसे लोगो के कंप्यूटर से चलाया जाता हैं. कंप्यूटर में प्रोग्राम पहले से लोड हैं और वो अपना काम करता रहता हैं. कौन किसको कितना दिया, कितना लिया हर transaction का देख रेख कंप्यूटर के द्वारा ही किया जाता हैं.

इस प्रकार ये किसी भी देश के सरकार के दबाव में नही आ सकता हैं. जिससे इन्वेस्टर के द्वारा लगाया गया पैसा हमेशा सुरक्षित रहेगा.

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं

Update:- 1 फरवरी 2022 को भारतीय संसद में वितमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी ने क्रिप्टो करेंसी से इनकम पर 30% का टैक्स लगा दिया. ये टैक्स आपको क्रिप्टो या फिर किसी भी प्रकार के virtural इनकम पर देनी होगी.

उदहारण :- मान लीजिये आपने 10000 भारतीय रुपये क्रिप्टो में इन्वेस्ट करते हैं. एक साल बाद या फिर कुछ ही महीनो में आपका 10000 रूपया 110000 रुपये के बराबर हो गये. इसका मतलब आपने 100000 रुपये का मुनाफा कमाया. अब आपको इस प्रॉफिट वाले 100000 का 30% आपको इनकम टैक्स के रूप में 30000 रुपये भारत सरकार को देने होंगे.

बड़े बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज कंपनी इस स्टेप को क्रिप्टो के लिए अच्छा बता रही हैं. और उनका मनाना है की भारत सरकार पीछे के दरवाजे से क्रिप्टो को लीगल कर दी हैं. परन्तु ऐसा बिलकुल नही हैं. परन्तु एक बात तो स्पस्ट है की भारत सरकार क्रिप्टो को पूरी तरह बैन नही करने वाली हैं.

बिटकॉइन या क्रिप्टो करेंसी बिलकुल नया टेक्नोलॉजी हैं. और भारतीय संबिधान लगभग 75 साल पहले लिखा गया था. उस समय इस प्रकार के टेक्नोलॉजी की कल्पना करना भी लगभग नामुमकिन था. इसलिए अभी तक क्रिप्टो करेंसी या फिर बिटकॉइन से सम्बंधित हमारे देश में कोई भी कानून नही हैं.

यदि देश में किसी चीज़ के खिलाफ कोई कानून नही हैं. और किसी चीज़ पर सवाल उठाने लगे की ये क़ानूनी है या नही. तब ये फैसला पूरी तरह सरकार पर निर्भर करती हैं. ये पोस्ट लिखे जाने तक बिटकॉइन के लीगल या इलीगल होने की सरकार के तरफ से को निर्देश नही आये हैं.

जब तक कोई निर्देश न आ जाये तब तक ये स्वतः मान लिया जाता हैं की ये चीज़ लीगल या क़ानूनी हैं.

उम्मीद करते हैं की आपको पूरी और सही जानकारी मिली हैं. यदि क्रिप्टो करेंसी या बिटकॉइन से सम्बंधित कोई भी सवाल या सुझाव हो तो निचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें.

चेतावनी :- इस पोस्ट के द्वारा हम क्रिप्टो या बिटकॉइन में निवेश करने की सलाह नही दे रहे हैं. क्रिप्टो करेंसी में निवेश जोखिमो के आधीन हैं. इसलिए अपना पैसा अपने बुद्धि और विवेक से लगाये. क्रिप्टो में आपके निवेश किये जाने पर आपके लाभ या हानी के लिए हम किसी भी प्रकार से जिम्मेवार नही हैं.

क्रिप्टो करेंसी या बिटकॉइन से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न:- ( FAQ )

क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करना सही हैं?

क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करना जोखिमो के आधीन हैं. ये पूरी तरह आपके विवेक के ऊपर निर्भर करता हैं.

भारत में कौन सी क्रिप्टो करेंसी एप्प लीगल है?

सभी एप्प भारत सरकार से मान्यता प्राप्त हैं.

अगले 7 दिनों में कौन सा क्रिप्टो करेंसी फायेदा पहुचायेगा?

इसका कोई सटीक जबाब नही हैं, जो फायेदा ही पहुचाये. परन्तु आप क्रिप्टो चार्ट पढ़ कर समझ सकते हैं.

क्रिप्टो का Volume बढ़ाने पर क्या कीमत भी बढती हैं?

क्रिप्टो का Volume यदि आप खरीद कर अपने पास बढ़ा रहे हैं तो प्राइस/कीमत भी बढ़ेगी. परन्तु क्रिप्टो करेंसी की Volume बढ़ाया जाये तो कीमत में कमी आएगी.

क्रिप्टो में ज्यादा पैसा इन्वेस्ट करने वाला देश ?

जापान ( 76.7% ) लोगो ने क्रिप्टो में इन्वेस्ट किया हैं.

P.S Kashyap

मेरा नाम पंकज कुमार कश्यप है. मैं पेशे से एक मैकेनिकल इंजिनियर हूँ. और साथ में अपने को नॉलेज को शेयर करने के लिए 2016 से ब्लॉग्गिंग और youtube पर सक्रिय हूँ.
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 Comment

  1. […] बिटकॉइन के जैसे और कई सारे क्रिप्टो करेंसी हैं. जैसे – इथेरियम, शीबा इनु, कोटी कॉइन, बिग बुल, Loopring Crypto इत्यादि. ये सब क्रिप्टो करेंसी ही हैं. […]