आईएएस की तैयारी कैसे करे | बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी कैसे करे

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप?  उम्मीद करता हूँ आप अच्छे ही होंगे. आज के इस आर्टिकल में,  मैं आपको बताने वाला हूँ कि  IAS की तैयारी कैसे करे?  हम सभी लोगों के  जीवन में कुछ बने का एक सपना रहता है.

उसी  तरह कई सारे  युवा का सपना होता है IAS  बानने का, यह बहुत ही सम्मानजक और गर्वपूर्ण नाम है. आईएस बनने के लिए आपको  एक बहुत कठिन  प्रतियोगता एग्जाम में पास करना होता है.जो हर साल UPSC आयोजित करती है.इस एग्जाम में पास होने के बाद आप आईएस,आईपीएस, आईएफएस जैसे 24 से भी ज्यादा पर नियुक्त मिल सकती है.

आईएएस की तैयारी कैसे करे | बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी कैसे करे
आईएएस की तैयारी कैसे करे

यूपीएस एग्जाम क्या होता है  

यदि आप आईएस, आईएफएस,आईएफएस बनना चाहते हैं तो आपको  ग्रेजुएशन के बाद upsc  एग्जाम के लिए आवेदन करना होता है. आप चाहे तो upsc की के लिए आवेदन ग्रेजुएशन फाइनल इयर में भी कर सकते हैं.upsc की एग्जाम तीन चरणों में होती है जिसे Preliminary,Main,और interview कहा जाता है

1 preliminary exam– एग्जाम के इस चरण में आपको दो पेपर्स देने होते हैं, जो पहले है सामान्य अध्ययन यह प्रथम पत्र के रूप में होता है और दूसरा पेपर सिविल सर्विसेज aptitude टेस्ट इसमें 200 अंको का होता है ।

जो सभी प्रशन ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं इन्हें पूरा करने में आपको 4 चार घंटे का समय दिया जता है.इस परीक्षा का अंको फाइनल परीक्षा में समिल नहीं किया जाता है.

और बिना प्री एग्जाम pass किये आप main एग्जाम भी नहीं दे सकते. आईएएस  परीक्षा की फाइनल मेरिट में  main एग्जाम और इंटरव्यू में प्राप्त किये गये अंको को जोड़ा जाता है और इससे आपके रैंक निर्धारित करते हैं.  

2 main exam – इसमें टोटल 9 पेपर्स हुआ करते हैं और 180 से 200 प्रश्न रहते हैं जो कुल मिलाकर 1750 अंको का होता है. सभी पेपर्स के लिए तीन घंटो का समय दिया जाता है

3 Interview– यह upsc एग्जाम का लास्ट और सबसे महत्वपूर्ण चरण है. main एग्जाम में पास होने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.

इंटरव्यू में 750 अंको का होता है इसमें प्राप्त किये गए अंको main एग्जाम के अंको के साथ जोड़ दिया जाता है. इंटरव्यू को आप अपने मनपसंद भाषा हिन्दी या इंग्लिश अपने  में दे सकते हैं.

IAS का फुल फॉर्म क्या है

अगर  आप आईएस की तैयारी करना चाहते है तो आपको इसका पूरा नाम जरुर पता होना चहिए. IAS   का पूरा नाम Indian Administration Service  होता है जिसे हिन्दी में “भारतीय प्रशासनिक सेवा” कहते हैं.  

आईएस की तैयारी कैसे करे

अब बात करते हैं सबसे महत्पूर्ण पॉइंट के बारे में कि आईएस की तैयारी कैसे करे  ताकि पहले attempt में ही सफल हो पाए.

इसके बारे में आपको जुरूर जानना चाहिए  अगर आप आईएस की नया छात्र  या पुराना है तो  यह सबके लिए महतवपूर्ण पॉइंट है. जिससे आपको तैयारी करने में आसानी होगी,तो चलिए जानते हैं उन पॉइंट के बारे में.

1 आईएस एग्जाम  तैयारी करने की समय – जैसे की मैं  आपको बता चूका हूं कि आईएस के लिए समय निर्धारित रहते हैं. अगर आप 2 या 3 साल तैयरी करते हैं,तो ये आपके लिए अच्छा रहेगा क्योंकि आपको कई सारे चीजें को अध्यन करना होगा.

जब आप ग्रेजुएशन में प्रवेश करेंगे तब उसी साल से ही आपको तैयारी करना चाहिए ताकि आपका ग्रेजुएशन फाइनल होते ही आप आईएस की एग्जाम में बैठ पाए और आपके लिए समय भी रहेगा जिससे आपको जितने एग्जाम देना का अवसर मिलेगा आप उनका लाभ उठा सकते हैं.

2 विषय की चुनाव – अगर आप आईएस की तैयारी करने जा रहे हैं तो आपको पहले  से ये  निधारित करना होगा कि आपको किस विषय अध्ययन में अच्छा लगता है यानि आपका मनपसंद विषय क्या है ?

ताकि जब भी आप आईएस के लिए अप्लाई करेंगे तो मनपंसद विषय से फॉर्म  अप्लाई कर सकते हैं. जो आपके लिए फायदा  रहेगा.

3 सिलेबस- जैसे की हम सभी जानते हैं कि  किसी भी एग्जाम  का बेस  सिलेबस पर आधारित होता है. आईएस एग्जाम की तयारी करने के लिए आपको इन विषय को अध्धयन  जरुर करना चाहिए जैसे- इतिहास,सामन्य ज्ञान,जीवविज्ञान,हिन्दी गणित, रसायन, अर्थशास्त्र, राजनीतिशास्त्र, समाजशास्त्र, भूगोल इत्यादि।

4 बेसिक को मजबूत बनाये – किसी भी एग्जाम की तैयरी करने के लिए आपको अपने बेसिक को मजबूत बनना होगा इसके लिए आप  NCERT किताब को अध्धयन करे.

5 current अफेयर्स – आईएस की तैयारी के लिये आपको कम से कम 12 या 18 महीनो का करंट अफेयर तैयार करना होगा. क्योंकि इसी से सवाल प्रेलिमिनारी एग्जाम में पूछे जाते हैं इसलिए आप ऑनलाइन कोर्स,मैगनीज, अख़बार पड़ सकते हैं.

आईएएस की तैयारी करने के लिए क्या क्या करना पड़ता है?

जैसे की मैंने आपको शुरुआत में ही बताया है कि यह भारत में, सबसे मुस्किल परीक्षा में से एक है  और इस परीक्षा में भारत के कई राज्य से कैंडिडेट  एग्जाम  देते हैं, लेकिन मुश्किल से ही कुछ लोग सेल्क्ट हो पते हैं.  यह एग्जाम काफी मुस्किल है ही, लेकिन यदि आप में आईएस ऑफिसर बानने की जज्बा और जूनून है तो आप इस एग्जाम को काफी आसानी से पास कर सकते हैं.

कई  सारे लोगों के मन यह सवाल आता है कि क्या हम दसवीं या बारवीं पास होने के बाद आईएस का एग्जाम दे सकते हैं? अगर आप भी ऐसे सोचते हैं, तो मै आपको बता दूं नहीं।

क्योंकि आईएस एग्जाम देने के लिए अपक 12 में किसी विषय से पास होना जरुरि इसके बाद आपको ग्रेजुएशन करना होगा। किसी भी कोर्स से,  तब आप इस एग्जाम देने के लिए एलिजिब्ले हो सकते हैं. 

आईएएस  exam की तैयारी के लिए योग्यता क्या है

जैसे की मैंने आपको पहले ही  बता चुका हूं, सबसे पहले आपको यूपीएससी के लिए आवेदन करना होता है। और इसमें आवेदन करने के लिए आपको ग्रेजुएशन पूरा होना चाहिए। ग्रेजुएशन आप किसी भी विषय से कर सकते है यह मैटर नही करता है।

अगर हम बात करे कि कितने मार्क्स आवश्यक है यूपीएससी एग्जाम देने के लिए, तो इसमें भी कोई नियम नहीं है अगर आप पास नंबर से पासआउट हुए है तब भी आप इस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

आईएएस परीक्षा  के लिए आयु सीमा क्या है?

इस एग्जाम में बैठेने के लिए upsc दवारा अलग-अलग श्रेणी के लिए योग्यता है जो आप नीचे पड़ सकते हैं.

1 सामान्य वर्ग– जो लोग समान्य वर्ग से हैं उनके लिए आयु सीमा निर्धारित किया है 21 वर्ष से 32 वर्ष तक जो अधिकतम इस एग्जाम के लिए 6 बार प्रयास कर सकते हैं.

2 पिछड़े वर्ग – पिछड़े वर्ग के कैंडिडेट के लिए आयु सीमा समान्य वर्ग कैंडीडेड के जैसा 21 वर्ष से 32 वर्ष तक है, लेकिन अगर जाती प्रमाण पत्र साथ में अप्लाई करते हैं, तो इन्हें 3 वर्ष की छूट पा सकते हैं. जिससे  वे अधिकतम 9 बार इस एग्जाम की प्रयास कर सकते हैं.

3 अनुसूचित जाती/ जनजाति – इस श्रेणी वाले कैंडिडेट की आयु सीमा 21 वर्ष से 32 वर्ष तक है, अगर ये जाती प्रमाण पत्र भी अप्लाई करते हैं, तो इन्हें 5 वर्ष तक छूट पा सकते हैं.

जिससे 37 वर्ष तक एग्जाम दे सकते हैं और इस केटेगरी वाले कैंडिडेट  एग्जाम देने  के लिए अधिकम प्रयास की कोई सीमा नहीं है। वे जितने  बार चाहे  उतनी बार इस एग्जाम को  दे सकते हैं इस आयु के दौरान.

आईएएस की तैयारी करने में कितना खर्च आता है?

अब बात करते है कि आईएस की   तैयारी करने में कितने खर्च आते हैं? देखिए, इसका  कोई सटीक उत्तर नहीं है। यह निर्भर करता है कि आप कैसे तैयारी करना चाहते हैं? कुछ लोग होते हैं बहार जाकर तैयारी करते हैं।

अगर आप भी  बहार जाकर तैयारी करना चाहते हैं, तो आपको रूम का भाड़ा देना होगा साथ ही आपका खाने-पीने का खर्चा  भी देना होगा।

इसके अलवा आपका खर्चा इस पर भी निर्भर करता है कि आप किस तरह का कौचिंग ज्वाइन कर रहे हैं वे ऑनलाइन है या ऑफलाइन. आजकल प्ले स्टोर में  कई सारे एप्लीकेशन मोजूद है जहाँ से आप फीस दे कर ऑनलाइन कौचिंग ले सकते हैं इसमें भी आपको  अच्छा खसा फीस देना पड़ता है.

इसके आलावा आपको किताब खरीदना होता है, लेकिन इसमें  आपको अधिक खर्चा   नहीं करना   पड़ता है साथी ही कुछ कितब ऐसे होते हैं जो आपको रोज पड़ना होता है जैसे newspaper इसमें भी आपका खर्चा लगता है.

खुद से आईएस की तैयारी कैसे करे

जैसे की मैंने आपको  ऊपर में बतया है कि यह भारत में एक लोता ऐसा एग्जाम होता है, जो सभी एग्जाम  से कठिन  है। कई सारे लोग होते हैं बाहर “दिल्ली”  जाकर इस एग्जाम की तैयारी करते हैं लेकिन उनमे से कुछ लोग ही सफल हो पाते हैं.

अच्छे इंस्टिट्यूट ज्वाइन करने से आपको एग्जाम क्रैक नहीं कर सकते हैं इसके लिए आपको जज्बा और जूनून की जरूरत है.

कौचिंग ज्वाइन करने का फायदा है यह कि वहां  आपकी क्षमताओं  को जागृति   करते हैं,एग्जाम की विषय में चर्चा करते है साथ ही  आपको मोटिवेट करते हैं। चाहे किसी  भी कौचिंग को ज्वाइन करे या फिर घर में पड़े, लेकिन मेहनत तो आपको ही करना होगा न? अगर आपके मन यह सावाल उठा रहा है कि क्या हम खुद से आईएस की तैयारी कर सकते हैं ?

तो इसका जवाब  है. हाँ, भले ही इस एग्जाम  को कठिन माना जाता है, लेकिन आप इस एग्जाम को बिना कौचिंग ज्वाइन किये भी  पास कर सकते हैं.

अगर आप बिना कौचिंग ज्वाइन किये तैयारी करना चाहते हैं इन नीचे बातये गए पॉइंट को फॉलो करे.

  • 1 आपको  upsc पाठ्यक्रम, नवीनतम पैटर्न,आईएस किताबों के बारे में जानकारी होना चाहिए और अपने लिए एक रणनीति तैयार करे।
  • 2 आपको अकेले तैयारी करने में confident रहना  चाहिए।
  • 3 आपको मैन्स  एग्जाम की answer writting प्रैक्टिस अकेला करना है।
  • 4 आपको अपनी गलितियों की पहचना खुद करना है और उसे  खुद से ठीक करे
  • 5  आजकल सभी लोगों के पास मोबाइल है यह आपकी तैयारी करने में महत्पूर्ण भूमिका निभाती है आप मोबाइल में इन्टरनेट उपयोग करके स्टडी सामग्री की विषय में जानकारी ले सकते हैं और तैयारी कर सकते हैं.
  • 6 youtube में ऐसे कई सारे चैनल है जो  आप विडियो देखर  तैयारी कर सकते हैं।
  • 7 हम सभी लोगों को पाता है आईएस की एग्जाम काफी कठिन है इसलिए आपको रोज दिन तैयारी करने के लिए कम से कम 10 से  12 घन्टे तक समय  जरुर देना चाहिए।
  • 8 आईएस एग्जाम की तैयारी करने के लिए, सबसे पहले आपको  syllabus को  समझना जरुरि है।
  • 9 सिलेबस को समझने के बाद आपको पहले प्रशन को हल करना चाहिए, इससे आपको समझ आयेगा प्रतियोगिता में पूछे जाने वाले विषय के बारे में.
  • 10  जायदा से जायदा प्रैक्टिस सेट को हल करे, शुरू-शुरू में आपको जायदा समय लगेगा लेकिन धीरे-धीरे आपका समय हल करने में कम होता जायेगा.
  • 11  हर दिन आपको अख़बार पड़ना होगा. अख़बार में आप राष्ट्रीय,प्रादेशिक,सम्पादकीय और खेल समचार को पड़ना है. इन सभी को याद रखने के लिए आपको note बुक में note करके  पड़ना है .

12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें?

जब आप  बारवीं कर  होते हैं या फिर आप ग्रेजुएशन कर रहे हैं, तो आपको तभी से  ये डिसीजन लेना है कि  आपको सिविल सेवा में जाना है  या नहीं. क्योंकि इस एग्जाम के लिए आपको कम से कम 2 या 3 साल लग जायेंगे. आप अपने ग्रेजुएशन के दोरान ही इसकी  तैयारी कर सकते हैं।

जायदातर कैंडिडेट अपनी ग्रेजुएशन के किसी एक विषय में से ही मुख्य चरण के लिए विषय चुनते हैं. इससे आपको आसानी रहती है क्योंकि आप  ग्रेजुएशन के दोरान इसे पुरे तीन साल पड़ते हैं.

इस एग्जाम की तैयारी की शुरुआत आप NCERT किताबों से करे साथ आप सिविल सेवा एग्जाम का पूरा सिलेबस अपने पास रखे और उसके अनुसार ही तैयारी करे.

अंतिम शब्द

दोस्तों, आज हमने इस आर्टिकल में जाना आईएस की तैयारी कैसे करे और 12वीं के बाद आईएएस की तैयारी कैसे करें? उम्मीद करता हूँ आपको यह आर्टिकल पसन्द आया होगा.अगर हाँ, तो इससे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक/whatsapp ग्रुप में जरुर शेयर करे.

दोस्तों यह आर्टिकल आपको कैसे लगा हमें कमेन्ट बॉक्स में जरुर बातये ताकि हम अपने आर्टिकल को सुधार कर पाए. आपका अपना  किमती  वक्त इस ब्लॉग पर देने के लिए आपका बहुत-बहुत धनयवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *